एस्पोर्ट्स लाइव

Publishing time:2021-10-20 04:35:28

गोवा ऐप एस्पोर्ट्स लाइव betway डाउनलोड,fun88 ऑनलाइन,lovebet 49 एस,lovebet होम,lovebet टैंग 88k,२२ बेट प्रथम जमा बोनस,बैकरेट विश्लेषण,बैकरेट ऑनलाइन मनोरंजन,सबसे अच्छा मोबाइल रम्मी गेम,मेरे शो क्रिकेट मैच के टिकट बुक करें,कैसीनो नोकके,शतरंज और ताश के खेल जो पैसे के बदले बदले जा सकते हैं,क्रिकेट बुक फिक्शन,क्रिकेट एक्सबॉक्स,यूरोपीय सट्टेबाज ओलंपिक,फुटबॉल सट्टेबाजी खाता खोलने के नियम,जी फुटबॉल खिलाड़ी,खुश किसान खेल डाउनलोड,मैं शतरंज का जाल,जे स्पोर्ट्स चिकित्सक एवं शारीरिक तंदुरुस्ती,ला क्रिकेट टीम,लाइव कैसीनो वेस्टमोरलैंड मॉल,लॉटरी खबरी,लूडो यार्स गेम डाउनलोड,ऑनलाइन नकद लड़ाई मकान मालिक,ऑनलाइन गेम क्विप्लाश,ऑनलाइन स्लॉट जैकपॉट,रम्मी 500 . में बिंदु मान,पोकर वार्म अप,रूले गीत mgk,रम्मी सिटी,रम्मीकल्चर जूम,स्लॉट आदिएच बैकप्लेन,स्पोर्ट्स ओ राम सेंट थॉमस,तीन पत्ती फिल्म,सबसे बड़ी जुआ कंपनी,वर्चुअल क्रिकेट बार लंदन,वाइल्डज़ कैसीनो लॉगिन,HAB Aइलेक्ट्रोनिक,करीना टिकटोक,क्रिकेट या खेळाचे नियम मराठी,छत्तीसगढ़ चेस एसोसिएशन,पलटें,बरसात भी आकर चली गई डीजे सॉन्ग,रमी माहिती,स्टेटस देखना है, .म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

यह म्यूचुअल फंड के प्रबंधन पर आने वाले खर्च को प्रति यूनिट में बताता है.
  1. म्‍यूचुअल फंड स्‍कीम में एक्सपेंस रेशियो क्‍या होता है?
    एक्सपेंस रेशियो एक तरह का अनुपात है. यह म्यूचुअल फंड के प्रबंधन पर आने वाले खर्च को प्रति यूनिट में बताता है. किसी म्यूचुअल फंड स्‍कीम का एक्सपेंस रेशियो कैलकुलेट करने के लिए उसके एयूएम (एसेट अंडर मैनेजमेंट) में कुल खर्च से भाग दिया जाता है. दरअसल, फंड हाउस के पास प्रशिक्षित पेशेवरों की एक होती टीम है. यही टीम मार्केट और कंपनियों पर नजर रखती है. किसी शेयर को खरीदने या उससे निकलने के फैसले भी यही लेती है. इसके साथ ही एसेट मैनेजमेंट कंपनी (एमएमसी) ट्रांसफर और रजिस्ट्रार से संबंधित खर्च, कस्टोडियन, लीगल व ऑडिट का खर्च, स्कीम की मार्केटिंग और उसके डिस्ट्रीब्यूशन का खर्च भी उठाती है. ये सभी खर्च म्यूचुअल फंड की यूनिट खरीदने वाले ग्राहक से ही लिए जाते हैं. किसी म्यूचुअल फंड स्कीम की नेट एसेट वैल्यू इस तरह के खर्च को घटाने के बाद निकाली गई वैल्यू है.

  2. डायरेक्‍ट प्‍लान की तुलना में रेगुलर प्‍लान का एक्सपेंस रेशियो ज्‍यादा क्‍यों होता है?
    डायरेक्‍ट प्‍लान की पेशकश फंड हाउस सीधे करते हैं. यानी म्‍यूचुअल फंड कंपनी से इन प्‍लान को सीधे खरीदा जा सकता है. वहीं, रेगुलर प्‍लान इंडिपेंडेंट फाइनेंशियल एडवाइजर, बैंक या एनबीएफसी जैसे इंटरमीडियरी या डिस्ट्रीब्यूटरों के जरिये खरीदे जा सकते हैं. म्‍यूचुअल फंड कंपनी इंटरमीडियरी को कमीशन देती हैं. इसे प्‍लान के एक्‍सपेंस रेशियो के तौर पर वसूला जाता है. यही कारण है कि रेगुलर प्‍लान का एक्सपेंस रेशियो ज्यादा होता है.


  3. म्‍यूचुअल फंड के एक्सपेंस रेशियो के लिए क्‍या सीमा तय है?
    बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं. जिन स्कीम का एयूएम 500 करोड़ रुपये है, वे एक्सपेंस रेशियो के रूप में अधिकतम 2.25 फीसदी चार्ज कर सकती हैं. 500-750 करोड़ रुपये एयूएम वाली स्कीम के लिए एक्सपेंस रेशियो 2 फीसदी है. 750-2,000 करोड़ रुपये वाली स्‍कीमों के लिए एक्सपेंस रेशियो 1.75 फीसदी, 2,000-5,000 करोड़ एयूएम वाली स्कीम के लिए 1.6 फीसदी और 5000-10,000 करोड़ रुपये एयूएम वाले फंड के लिए एक्सपेंस रेशियो 1.5 फीसदी हो सकता है. सेबी के निर्देश के मुताबिक, 10,000-50,000 करोड़ एयूएम वाली स्कीम के लिए एक्सपेंस रेशियो हर 5000 करोड़ रुपये बढ़ने के बाद 0.05 फीसदी कम होता चला जाएगा. अगर किसी म्यूचुअल फंड स्कीम का एयूएम 50,000 करोड़ से अधिक है तो उसके लिए एएमसी एक्सपेंस रेशियो के रूप में 1.05 फीसदी चार्ज ले सकती है.


  4. क्‍या म्‍यूचुअल फंड के एक्‍सपेंस रेशियो का रिटर्न पर असर पड़ता है?
    एक्सपेंस रेशियो बताता है कि आपके निवेश पोर्टफोलियो के प्रबंधन के लिए फंड आपसे कितनी फीस वसूल रहा है. अगर आप 2 फीसदी एक्‍सपेंस रेशियो वाली स्‍कीम में 10,000 रुपये निवेश करते हैं तो इसका मतलब यह है कि इस रकम के प्रबंधन के लिए आपको 200 रुपये की फीस चुकानी होगी. इस तरह अगर फंड का रिटर्न 12 फीसदी और उसका एक्‍सपेंस रेशियो 2 फीसदी है तो आप 10 फीसदी रिटर्न कमाएंगे. इस तरह कम एक्सपेंस रेशियो का मतलब अधिक मुनाफा है. वहीं, एक्सपेंस रेशियो अधिक होने का मतलब मुनाफा घटना है. हालांकि, यह सही है कि ज्‍यादा एक्‍सपेंस रेशियो का फंड के रिटर्न पर असर पड़ता है. लेकिन, यह जरूरी नहीं है कि हमेशा अधिक एक्सपेंस रेशियो का मतलब कम मुनाफा ही हो. निवेशकों को स्‍कीम चुनने में कई अन्‍य बातों का भी ध्यान रखना चाहिए.


पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

एक्‍सपेंस रेशियोडायरेक्‍ट प्‍लानरिटर्नसेबीम्‍यूचुअल फंडरेगुलर प्‍लान

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read
म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.डॉ रेड्डीज लैब के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


lovebet डाउनलोड आईओएस
बैकारेट गेम मशीन कहाँ है
जोकर धर्मपाल
लॉटरी 8 बजे वाला
स्लॉट मशीन कोस्टेनलोस स्पीलें
सिक्का स्लॉट मशीन
स्क्रिल वाई लवबेट
ऑनलाइन क्रेडिट बेटिंग नेटवर्क
कैसीनो रानी होटल
प्वाइंट रम्मी गेम डाउनलोड
fun88 फ्लैशबैक
ज्ञान क्रिकेट
lovebetल'आवेदन
बेताब मूवी सनी देओल
नायब कैसीनो शो
बैकारेट today
lovebet एशिया 1
ढाल गोवा
वीडियो फुटबॉल 2019
3 कोनों से अधिक की lovebet अर्थ
रम्मीकल्चर अकाउंट डिलीट करें
तटरक्षक खेल
लियोवेगैस निवेशक संबंध
क्रिकेट हिंदी समाचार
fun88 इंग्लैंड
भारत में पैरिमैच कानूनी है
शासन लाइबनिज़