लिवरपूल रम्मी हैंड्स

लिवरपूल रम्मी हैंड्स

time:2021-10-27 15:49:14 लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी? Views:4591

नवीनतम क्रिकेट किताब लिवरपूल रम्मी हैंड्स 10cric एपीके मुफ्त डाउनलोड,betway टिप्स एंड ट्रिक्स,लेवेगास प्रधान कार्यालय,lovebet विकल्प,lovebet लॉगिन खाता,lovebet वोज़,एक क्रिकेट की कहानी,बैकरेट सशर्त संभावना,बैकरेट स्कोरर,बेटिंग बैकअपनेटवर्क,कैसीनो 1995 माता-पिता गाइड,कैसीनो रोड स्ट्रैंडफ़ोन्टेन,चेसन सेंट डायनेला,क्रिकेट अजीब वीडियो,विस्तृत बैकरेट,यूरोपीय कप कार्यक्रम,फुटबॉल मैं रहता हूँ,समलैंगिक खेल,एचडी क्रिकेट लाइव,बैकारेट खेलने के सबसे आसान तरीके का परिचय,जैकपॉट इंडिया लॉटरी डॉट कॉम,लाइव लाठी कैलिफ़ोर्निया,टीवी पर लाइव रूले,लॉटरी सांबद रात,पैसे जुआ साइट,ऑनलाइन कैसीनो नेपाल,ऑनलाइन पाई गौ,पी क्रिकेट खेल,पोकर चार्ट,पोर्टेरिया ए 0 लवबेट,शाही बच्चे,रम्मी नाबोब ड्रैगन बनाम टाइगर,स्लॉट 3 मात्रा,स्लॉट और कैसीनो ऑनलाइन,खेल गोदाम,टेक्सास होल्डम बेस्ट हैंड्स,बैकारेटा का रहस्य,बैकारेट राजा क्या हैं,विश्व फुटबॉल कप,इंडियन रमी गेम,कैसीनो के खेल english translation,गरेना फ्री फायर,जोकर भाई का टिक टॉक,फुटबॉल जर्सी सेट,बेटा छोटा भीम,लॉटरी result.com,स्पोर्ट्स चैनल्स .लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी?

अपने पोर्टफोलियो में इस एसेट को जोड़ते समय कुछ बातों का ध्यान रखने की जरूरत है
रुद्र 20 साल के हैं. वह एक कॉलेज में फाइनेंस के छात्र हैं. एक साल से वह इक्विटी और फिक्‍स्‍ड एसेट में निवेश कर रहे हैं. उन्‍हें दूसरे एसेट क्लास की भी तलाश है. क्‍या उन्‍हें क्रिप्‍टोकरेंसी के बारे में विचार करना चाहिए? अगर हां तो वह इस दिशा में कैसे बढ़ सकते हैं? लंबी अवधि में पैसा बनाने के लिए उन्‍हें क्‍या करना चाहिए?

आइए, जानते हैं कि एक्‍सपर्ट उन्‍हें क्‍या सलाह दे रहे हैं.

पीपीएफएएस म्यूचुअल फंड में सीएफपी और हेड-प्रोडक्‍ट्स जयंत आर पई कहते हैं कि यह बहुत अच्‍छा हैं कि रुद्र ने काफी कम उम्र से पैसा बनाने की तरफ कदम बढ़ाए हैं. वैसे तो हाल में क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में बहुत सफल जरिया रहा है. लेकिन, अपने पोर्टफोलियो में इस एसेट को जोड़ते समय दो बातों का ध्यान रखने की जरूरत है :

इसे भी पढ़ें : म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

- प्रमुख एसेट क्लास की तुलना में क्रिप्‍टोकरेंसी में मूल्यों में अस्थिरता बहुत ज्यादा होती है. क्‍या आपके पास इस तरह के उतार-चढ़ाव को बर्दाश्त करने की क्षमता है. क्‍या रुद्र आर्थिक रूप से उतना सक्षम हैं.

इसे भी पढ़ें : क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

- भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं. अगर भविष्य में कोई प्रतिकूल फैसला लिया जाता है तो रुद्र एक खराब लिक्विडिटी वाले एसेट में फंस जाएंगे. अच्‍छा होगा कि वह इक्विटी और फिक्‍स्‍ड इनकम में अपने निवेश को बनाकर रखें. कारण है कि इनके भविष्य को लेकर किसी तरह का असमंजस नहीं है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीट्रेडिंगएसेट क्‍लासभारतीय नियामकपोर्टफोलियो

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) स्टैंडर्ड चार्टर्ड के एक सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत में अधिकांश संपन्न व्यक्तियों ने महामारी के बाद अपने जीवन के लक्ष्यों को फिर से निर्धारित किया है। हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के कारण आत्मविश्वास की कमी उन्हें अपने नए लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक कदम उठाने से रोक रही है। ‘वेल्थ एक्सपेक्टेंसी रिपोर्ट-2021’ के अनुसार, भारत में 94 प्रतिशत लोगों ने अपने जीवन लक्ष्यों को महामारी के बाद फिर से निर्धारित किया है और 48 प्रतिशत ने कहा कि कोविड-19 की वजह से उनकाबाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.‘कोयला संकट से 5,000 से अधिक लघु एवं मझोले उद्यमों को भारी नुकसान का अंदेशा’

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) स्विट्जरलैंड की कंपनी होल्सिम ग्रुप की इकाई अंबुजा सीमेंट्स का चालू वित्त की सितंबर में समाप्त तीसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 10.85 प्रतिशत बढ़कर 890.67 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। कंपनी का वित्त वर्ष जनवरी-दिसंबर तक होता है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 803.50 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी परिचालन आय 7.74 प्रतिशत बढ़कर 6,647.13 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान अवधि में 6,169.47 करोड़ रुपये थी।नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) स्टैंडर्ड चार्टर्ड के एक सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत में अधिकांश संपन्न व्यक्तियों ने महामारी के बाद अपने जीवन के लक्ष्यों को फिर से निर्धारित किया है। हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के कारण आत्मविश्वास की कमी उन्हें अपने नए लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक कदम उठाने से रोक रही है। ‘वेल्थ एक्सपेक्टेंसी रिपोर्ट-2021’ के अनुसार, भारत में 94 प्रतिशत लोगों ने अपने जीवन लक्ष्यों को महामारी के बाद फिर से निर्धारित किया है और 48 प्रतिशत ने कहा कि कोविड-19 की वजह से उनकानियमित आमदनी के लिए इन पांच विकल्प में निवेश कर सकते हैं सीनियर सिटीजन

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्पोर्ट्सबुक पूल वेगास

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) देश में कई साइबर सुरक्षा संगठन हैं लेकिन ऑनलाइन क्षेत्र में सुरक्षा के लिए कोई जवाबदेह केंद्रीय निकाय नहीं है। राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक (एनसीएससी) राजेश पंत ने मंगलवार को यह कहा। उन्होंने यह भी कहा कि प्रस्तावित राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति सुरक्षा व्यवस्था के तहत इस अंतर को दूर करेगी। पंत ने कहा कि भारत में उत्कृष्ट संगठन हैं और पिछले एक साल में देश में साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में ‘शानदार’ बदलाव हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘कुल मिलाकर एक व्यवस्था मौजूद है लेकिन संचालन से जुड़े नियमों

इंडिनेट लॉगिन

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.

फुटबॉल का पहला हाफ कितना लंबा है

मोहाली, 26 अक्टूबर (भाषा) पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने उद्योग को निवेश के लिए अनुकूल परिवेश का भरोसा दिलाते हुए कहा है कि उनका राज्य देश में कारोबार करने की दृष्टि से ‘सर्वश्रेष्ठ स्थान’ है। चन्नी ने मंगलवार को चौथे प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन-2021 के पूर्ण सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार राजनीतिक या नौकरशाही में शून्य भ्रष्टाचार को लेकर प्रतिबद्ध है। उन्होंने उद्योपतियों को समाज में संपदा का सृजन करने और युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगा। ‘‘भारत में कारोबार करने

गोवा तरुण भारत

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.

लवबेट क्रेवन मीटिंग

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
lovebet नया खाता

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि दो महीनों में ई-श्रम पोर्टल पर 5 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। यह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के बारे में पहला संगठित रूप से एकत्रित राष्ट्रीय आंकड़ा है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। इसमें निर्माण, परिधान, विनिर्माण, मत्स्य, खोमचे-रेहड़ी पटरी वाले, ठेका कर्मी, घरों में काम करने वाले, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों

फुटबॉल वेब गेम्स

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि दो महीनों में ई-श्रम पोर्टल पर 5 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। यह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के बारे में पहला संगठित रूप से एकत्रित राष्ट्रीय आंकड़ा है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। इसमें निर्माण, परिधान, विनिर्माण, मत्स्य, खोमचे-रेहड़ी पटरी वाले, ठेका कर्मी, घरों में काम करने वाले, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों