baccarat जीतने की संभावना

Publishing time:2021-10-27 15:12:09

y क्रिकेट ओलंपिक में शामिल नहीं है baccarat जीतने की संभावना 10cric गेम,betway जाम्बिया लॉगिन पासवर्ड,लियोवेगैस मोबाइल,lovebet बेस्ट स्लॉट्स,lovebet मोबाइल,lovebet x205,ए+ स्पोर्ट्स जर्सी,बैकरेट ड्रैगन,बैकरेट सिस्टम,सट्टेबाजी का खेल - पासा रोल,कैसीनो 777 स्लॉट,कैसीनो स्ट्रीट वेल्शपूल,क्लासिक रम्मी संस्थापक,क्रिकेट इतिहास हिंदी में,क्या बैकारेट धोखा देता है?,यूरोपीय फ़ुटबॉल वर्तमान स्कोर,फुटबॉल लॉटरी वर्ग,उत्पत्ति कैसीनो खेल,बेटिंग ऑड्स की गणना कैसे की जाती है,आईपीएल फाइनल विजेताओं की सूची,जैकपॉट प्रश्न,लाइव लाठी लातविया,लाइव रूले शब्दशः,लॉटरी वा,ना शतरंज हब,ऑनलाइन कैसीनो असली पैसा nz,ऑनलाइन पोकर यूरोप,पैरिमैच कैसीनो लॉगिन,पोकर संतुलन,आर क्रिकेटर का नाम,ru.pokerstrategy 888 पुनः लोड करें,रम्मी शार्क,स्लॉट मशीन ईएमपी जैमर,स्पीकर ब्रासोव,स्पोर्ट्सबुक दोहराना बोस्टन,मेरे पास टेक्सास होल्डम खेल,तीन यूरोपीय फुटबॉल सट्टेबाजी कंपनियां,उत्कृष्ट होने का क्या अर्थ है?,एक्स चेसर,इलेक्ट्रॉनिक खेल netflix,कैसीनो के खेल word,गोवा उत्सव,ज्ञानवर्धक स्टेटस,फुटबॉल मैच का कार्यक्रम,बेटा धाकड़,लॉटरी खेलना,स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी .रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं.
नई दिल्‍ली : देशभर में लॉकडाउन के चलते लाखों लोगों की नौकरियां चली गई थीं. अब स्थिति सुधरती दिख रही है. आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं. इसके शुरुआती संकेत मिलने लगे हैं. जिन लोगों ने कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ) स्‍कीम को छोड़ा था, वे वापस इससे जुड़ रहे हैं. इस साल जून में ऐसे मेंबर्स की संख्‍या अब तक सबसे ज्‍यादा रही है. वहीं, स्‍कीम छोड़ने वालों की संख्‍या में भी तेज गिरावट आई है.

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है. आधिकारिक आंकड़ों से इसका पता चलता है. पेरोल के आंकड़े दिखाते हैं कि जून में स्‍कीम से 4.54 लाख मेंबर्स ईपीएफओ से निकले और दोबारा से जुड़ गए. मई में यह आंकड़ा 3.14 लाख और अप्रैल में 2.51 लाख रहा था. पिछले वित्‍त वर्ष में यह औसत 6.5 लाख रहा है.

इसे भी पढ़ें : इस साल हर दस में से सिर्फ 4 कंपनी ने दिया इंक्रीमेंट : सर्वे

स्‍कीम से निकलने वालों की संख्‍या में भी गिरावट आई है. जून में यह 2.99 लाख रही है. इसकी तुलना में मई में यह 4.45 लाख और अप्रैल में 4.08 लाख रही थी. ये आंकड़े देश में संगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति को बयान करते हैं.

जून में ईपीएफओ से कुल 6.55 लाख नए सब्‍सक्राइबर जुड़े. अप्रैल में यह संख्‍या महज 20 हजार और मई में 1.72 लाख रही थी. केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कियान्‍वयन मंत्रालय के आंकड़ों से इसका पता चलता है. वित्‍त वर्ष 2019-20 में औसतन हर महीने 10 लाख नए सब्‍सक्राइबर स्‍कीम से जुड़े. वहीं, जून 2019 में कुल 12 लाख लोग स्‍कीम से जुड़े थे.

इसे भी पढ़ें : इन 8 वेबसाइट से आप कर सकते हैं ऑनलाइन कोर्स, करियर संवारने में मिलेगी मदद

25 मार्च से देश में तीन हफ्तों के लिए देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था. इसे बाद में कुछ रियायतों के साथ बढ़ाया जाता रहा. एक मई से सरकार ने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की. इसके तहत चरणबद्ध तरीके से बंदिशों को हटाया जा रहा है.

आंकड़ों के अनुसार, जून में ईएसआईसी से जुड़ने वालों की संख्‍या 7.92 लाख रही. में यह 4.76 लाख, जबकि अप्रैल में 2.58 लाख थी. वैसे, नए लोगों के जुड़ने का आंकड़ा कोरोना से पहले के स्‍तर से अब भी कम है. 2019-20 में स्‍कीम से हर महीने जुड़ने वालों का औसत आंकड़ा 12 लाख से ज्‍यादा था.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

रोजगार के हालातईपीएफओईएसआईसीकर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीमकर्मचारी भविष्‍य न‍िधि संगठन

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read
रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

माउंटेन व्यू (अमेरिका), 27 अक्टूबर (एपी) गूगल की डिजिटल विज्ञापनों से आमदनी में जोरदार बढ़ोतरी से मूल कंपनी अल्फाबेट का मुनाफा जुलाई-सितंबर 2021 तिमाही में 68 प्रतिशत बढ़ गया। कैलिफोर्निया के माउंटेन व्यू में स्थित अल्फाबेट इंक ने मंगलवार को कहा कि उसने तीसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में 18.94 अरब अमेरिकी डॉलर या प्रति शेयर 27.99 अमेरिकी डॉलर की कमाई की। इस दौरान कंपनी की आय 41 फीसदी बढ़कर 65.12 अरब डॉलर हो गई। फैक्टसेट के एक सर्वेक्षण में विश्लेषकों ने 63.53 अरब अमेरिकी डॉलर की आय पर प्रति शेयर 23.73 अमेरिकी डॉलर के मुनाफे की उम्मीद जताई थी। ई-मार्केटर केजून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है.जोशी ने कोयला उत्पादन की स्थिति की समीक्षा की, बिजली संयंत्रों को आपूर्ति में प्राथमिकता जारी रहेगी

मुंबई, 27 अक्टूबर (भाषा) कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और विदेशी बाजारों में अमेरिकी मुद्रा की मजबूती के चलते भारतीय रुपया बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान अमेरिकी डॉलर के मुकाबले छह पैसे टूटकर 75.02 पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया पिछले बंद भाव के मुकाबले छह पैसे गिरकर 75.02 पर खुला। रुपया मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 74.96 पर बंद हुआ था। इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.06 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 93.88 पर आ गया। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूडअच्‍छे ब्रांड से दो साल का एमबीए मार्केट की बदली हुई स्थितियों में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. एमबीए की डिग्री आपको विश्‍वसनीयता हासिल करने में मदद करती है. फिर चाहे आपने किसी भी सेक्‍टर में काम किया हो.अच्‍छे इंक्रीमेंट के लिए अभी दो साल करना पड़ेगा इंतजार : एक्‍सपर्ट्स

2020 के पहले छह महीनों में केपजेमिनी ने 9,500 लोगों की भर्ती की है. सेकेंड हाफ में उसकी 13,500 लोगों को रिक्रूट करने की योजना है.नयी दिल्ली, 27 अक्टूबर (भाषा) डिजिटल रूप से वित्तीय सेवाएं मुहैया कराने वाली कंपनी पेटीएम अपने प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) का आकार बढ़ाकर 18,300 करोड़ रुपये करेगी। सूत्रों के मुताबिक कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक अलीबाबा समूह की फर्म एंट फाइनेंशियल और सॉफ्टबैंक सहित अन्य मौजूदा निवेशकों ने पेटीएम में अपनी अधिक हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है। इससे पहले कंपनी की योजना आईपीओ के जरिए कुल 16,600 करोड़ रुपये जुटाने की थी, जिसमें 8,300 करोड़ रुपये का ताजा निर्गम और 8,300 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश (ओएफएस) शामिल थी। मौजूदा शेयरधारकों द्वारा अधिक हिस्सेदारी बेचने के फैसले से'एनएफआरए सांविधिक कर्तव्यों के निर्वहन के लिए प्रतिबद्ध'

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


गोवा झील
एनएच लॉटरी
क्रिकेट आज का मैच
ई खेल प्रश्नोत्तरी प्रश्न
हैप्पी सिटी किसान हांगकांग
पूल रम्मी अद्यतन
ऑनलाइन बैकरेट जुआ साइट
रूले जैकपॉट dq11
बैकारेट ई शॉप
स्पोर्ट्स बूट
लखनऊ में क्रिकेट अकादमी
बेस्ट फाइव बॉय मिल्कशेक
कैसे ऑनलाइन खेलने के लिए baccarat
खेल पोकर
डॉव जोन्स इंडेक्स
करीना रिजल्ट
बैकरेट रोड सिंगल नेट डाउनलोड
क्रिकेट में मुनीम
फुटबॉल परिधीय साइट
लीवगैस रिक्तियां
फुटबॉल 96
lovebet यूके लाइव चैट
सट्टेबाजी संख्या ऑनलाइन
जैकपॉट कारें
पसंदीदा मछली पकड़ने की भीड़
लॉटरी कल परिणाम रात 8 बजे
lovebet यू hrvatskoj