सिक बो कप खेलने के चतुर तरीके क्या हैं?

सिक बो कप खेलने के चतुर तरीके क्या हैं?

time:2021-10-20 06:30:42 एक्सिस बैंक ने कर्मचारियों का वेतन 12% तक बढ़ाया Views:4591

lovebet न्यूकैसल यूनाइटेड सिक बो कप खेलने के चतुर तरीके क्या हैं? 10cric भुगतान,casumo एरफाह्रुंगेन फोरम,लियोवेगास क्यूबेक,lovebet सी क्वोई,lovebet न्यूजीलैंड,lovebet यूल,नवीनतम फुटबॉल मैचों का विश्लेषण,पुरुषों के लिए बैकारेट,बैकरेट टू-वे कोड वाशिंग शुल्क,सट्टेबाजी का रस,कैसीनो एरिजोना,कैसीनो ब्रिटेन सूचकांक,क्लासिक रम्मी Quora,भारत में क्रिकेट नौकरियां,ई क्यू स्पोर्ट्स,यूरोपीय जुआ कंपनी,फ़ुटबॉल नेट ऑड्स,उत्पत्ति कैसीनो भुगतान नहीं कर रहा है,फ़ुटबॉल मैच कितने समय का होता है,आईपीएल सूची,जैकपॉट तमिल मूवी डाउनलोड तमिलयोगी,लाइव लाठी समीक्षा,जमींदारों से लड़ते हुए लाइव-एक्शन वीडियो,लॉटरी कल रात 8 बजे,एनबीए बास्केटबॉल सिफारिश,ऑनलाइन कैसीनो वर्कलाजेन,ऑनलाइन पोकर játék,पेरिमैच जर्मनी,पोकर पदानुक्रम,सट्टेबाजी कंपनियों की रैंकिंग,नियम घातांक शून्य,पीसी के लिए रम्मी वेरिएंट,वेंडिटा में स्लॉट मशीन,स्पोर्ट्स 4k वॉलपेपर,फ्लोरिडा में स्पोर्ट्सबुक,टेक्सास होल्डम कोम्बिनैस,शीर्ष दस सट्टेबाज वेबसाइटें,विश्व कप का थीम गीत क्या है,xét xử lovebet,ईमानदारी स्टेटस इन हिंदी,क्रिकेट ०७,गोवा खाद्य पदार्थ,डिबेट का हिंदी,फुटबॉल शूज,बेटा रोबोट बॉय सूट ऑन,लॉटरी डे चार्ट,हांगकांग मार्क सिक्स लॉटरी .एक्सिस बैंक ने कर्मचारियों का वेतन 12% तक बढ़ाया

यह बढ़ोतरी एक अक्टूबर से लागू है. जबकि आमतौर पर वेतन प्रत्येक वित्त वर्ष की शुरुआत में एक अप्रैल से बढ़ाया जाता रहा है.
मुंबई : देश में निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक एक्सिस बैंक ने अपने 75,000 कर्मचारियों के वेतन में 12 फीसदी तक बढ़ोतरी की है. एक सूत्र ने मंगलवार को बताया कि बैंक पहले ही एक निश्चित रैंक से नीचे के अधिकारियों को वार्षिक बोनस दे चुका है. अब सभी को बोनस दिया जाएगा.

कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.

इसे भी पढ़ें : कोविड के बीच जानिए कहां मिल रही हैं नौकरियां

सूत्र ने कहा, ''हमें वेतन बढ़ोतरी और बोनस के बारे में व्यक्तिगत रूप से सूचित किया गया है.'' साथ ही उन्होंने बताया कि यह बढ़ोतरी व्यक्तिगत प्रदर्शन के आधार पर 4 से 12 फीसदी तक है.

उन्होंने बताया कि यह बढ़ोतरी एक अक्टूबर से लागू है. जबकि आमतौर पर वेतन प्रत्येक वित्त वर्ष की शुरुआत में एक अप्रैल से बढ़ाया जाता था. इस संबंध में पुष्टि के लिए एक्सिस बैंक के प्रवक्ता को एक ईमेल भेजा गया था, जिसका कोई जवाब नहीं आया.

इसे भी पढ़ें : अच्‍छे इंक्रीमेंट के लिए अभी दो साल करना पड़ेगा इंतजार : एक्‍सपर्ट्स

इससे पहले आईसीआईसीआई और एचडीएफसी बैंक ने भी इसी तरह का फैसला लिया था. आईसीआईसीआई बैंक ने अपने एक लाख कर्मचारियों में से 80 हजार कर्मचारियों को बोनस दिया था और सैलरी बढ़ाई थी. यह फैसला जुलाई से लागू हुआ है.

बैंकों ने यह फैसला ऐसे समय में लिया है जब कोविड-19 की वजह से प्रदर्शन कुछ खास अच्छा नहीं रहा है.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

एक्सिस बैंकवेतन में बढ़ोतरीकर्मचारियों का वेतनकोरोना की महामारीलॉकडाउन

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है.रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण अब तक परीक्षा आयोजित नहीं कराई जा सकी थी.अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

रिपोर्ट में कहा गया है कि अनलॉक उपायों के बाद आवाजाही में सुधार से रियल एस्टेट क्षेत्र में नियुक्ति गतिविधियां 44 फीसदी सुधरी हैं.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.एनालिटिक्‍स और डेटा साइंस के क्षेत्र में प्रोफेशनल्‍स की भारी मांग, 93,500 से अधिक पद खाली

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
ऑनलाइन स्लॉट za

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.

क्रिकेट एच स्ट्रीट चुला विस्टा

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.

नाम और नंबर के साथ क्रिकेट जर्सी

जून में गिरावट के बाद पिछले दो महीनों में एक्टिव जॉब ओपनिंग्‍स में 74 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. कंपनियों को कोविड की महामारी खत्‍म होने के बाद प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने की उम्‍मीद है. वे इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं.

खेल 4k

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.

ऑनलाइन गेम ज़ापाकी

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी