lovebet समीक्षा फिलीपींस

Publishing time:2021-10-27 15:57:46

क्रिकेट यू 19 lovebet समीक्षा फिलीपींस 188bet लिंक अल्टरनेटिफ २०२०,casumo उत्तम,lovebet 122 बोनस,lovebet यूरोपीय संघ,lovebet त्वरित निकासी,lovebetapp लॉगिन,बैकारेट 10 पीस कुकवेयर सेट की समीक्षा,कैसीनो में बैकरेट सबसे अनुचित खेल है,बॉल्स वर्चुअल रियलिटी क्रिकेट,सट्टेबाजी यांकी कैलकुलेटर,कैसीनो पैसा कमाते हैं,कैसीनो वाई बिंगोस कुआंडो अब्रेन,क्रिकेट 007,क्रिकेट रेडियो,एस्पोर्ट्स हिस्ट्री,बैकारेट के पांच नियम,फुटबॉल यू 20,जाओ लवबेट,लकी लॉटरी बेटिंग स्टेशन कैसे खोलें,10cric नकली है,जंगल रम्मी लॉबी,न्यूयॉर्क में लाइव कैसीनो,लॉटरी बंपर,लूडो आईएमडीबी,ओ लवबेट या कॉन्फियावेल,ऑनलाइन गेम बस,ऑनलाइन पोकर yasal mı,parimatch अनऑफिशियल डब फिल्में,पोकर ऑनलाइन असली पैसा भारत,री शतरंज क्लब,फुटबॉल मैचों में प्रतिस्थापन के नियम,लैपटॉप के लिए रम्मीकल्चर,स्लॉट मशीन विजेता 2020,खेल दिवस मनाया जाता है,स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी,टेक्सास होल्डम यूट्यूब वीडियो,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल लाइव,कौन सा नकद शतरंज का खेल सबसे अच्छा है,21 बजे facebook,ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए मोबाइल से,क्रिकेट उत्तराखंड,गोवा माहिती मराठी,तीन पत्ती फ्री चिप्स कोड,बकरी घास खा रही है,बैकारेट today,स्टेटस अपडेट, .कारोबार के साथ चीन को जवाब, भारत का हाथ मजबूत कर रहे गौतम अडानी

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

कारोबार के साथ चीन को जवाब, भारत का हाथ मजबूत कर रहे गौतम अडानी

Story outline

  • अडानी और प्रतिनिधिमंडल दो स्पेशल फ्लाइट के साथ रविवार को श्रीलंका पहुंचा।
  • माना जा रहा है कि अडानी ग्रुप ने श्रीलंका में बड़े इन्वेस्टमेंट का प्लान बनाया है।
  • कुछ हफ्ते पहले अडानी ने श्रीलंका की एक सरकारी कंपनी के साथ डील की थी।
नई दिल्ली
भारत ने श्रीलंका (Sri Lanka) में चीन की बढ़ती दिलचस्पी के मुकाबले के लिए नई रणनीति बनाई है। वह श्रीलंका के साथ कारोबारी रिश्ते (business relations) बढ़ाकर चीन को जवाब देना चाहता है। अडानी ग्रुप (Adani Group) इसमें मदद कर रहा है। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी (Gautam Adani) ने सोमवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajpaksha) से मुलाकात की। उन्होंने ट्विटर पर इस मुलाकात के बारे में जानकारी दी है। माना जा रहा है कि अडानी ग्रुप ने श्रीलंका में बड़े इन्वेस्टमेंट का प्लान बनाया है।

कुछ हफ्ते पहले अडानी ने श्रीलंका की सरकारी कंपनी श्रीलंका पोर्ट अथॉरिटी (SLPA) के साथ डील की थी। इसके तहत यह ग्रुप कोलंबो पोर्ट के वेस्टर्न कनटेनर टर्मिनल (West container Terminal) को बनाएगा और इसे चलाएगा। सूत्रों ने बताया कि अडानी प्राइवेट विजिट पर श्रीलंका गए हैं। उनके साथ 10 लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल भी है। डेली मिरर न्यूजपेपर के मुताबिक, अडानी और प्रतिनिधिमंडल दो स्पेशल फ्लाइट के साथ रविवार को श्रीलंका पहुंचा।

अडानी ग्रुप इंडिया के सबसे बड़े कारोबारी समूहों में से एक है। इसका मुख्यालय अहमदाबाद है। अडानी ने श्रीलंका में वेस्ट इंटरनेशनल कनटेनर टर्मिनल (WCT) बनाने का जो समझौता किया है, वह 70 करोड़ डॉलर का है। यह श्रीलंका के पोर्ट सेक्टर में अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश है। कोलंबो पोर्ट इंडियन कनटेनर्स के लिए सबसे पसंदीदा रीजनल हब है। डब्ल्यूसीटी को बिल्ड, ऑपरेट और टांसफर आधार पर बनाया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक, अडानी ग्रुप श्रीलंका के इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर (Infrastructure Sector) में पार्टनरशिप के लिए अन्य मौके भी तलाश रहा है। भारत के साथ श्रीलंका का बहुत पुराना रिश्ता है। श्रीलंका के लोकल मीडिया ने वहां के अधिकारियों के हवाले से बताया है कि अडानी ग्रुप ने भारत के इस पड़ोसी देश के एनर्जी (Energy) और विंड सेक्टर (Wind Sector) में भी दिलचस्पी दिखाई है। आने वाले दिनों में कई सेक्टर में अडानी ग्रुप के समझौते की खबर आ सकती है।

अगर भारतीय कंपनियां श्रीलंका में बड़ा निवेश करती हैं तो यह चीन को करारा जवाब होगा। वह इस एशियाई क्षेत्र में अपना दबदबा बढ़ाने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है। वह श्रीलंका और नेपाल जैसे भारत के पड़ोसी देशों में बड़े पैमाने पर इन्वेस्टमेंट करना चाहता है। उसने श्रीलंका के इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में काफी ज्यादा दिलचस्पी दिखाई है। चीन की चाइना हार्बर इंजीनियरिंग कंपनी (CHEC) ने कुछ महीने पहले कोलंबो में 17 किलोमीटर लंबा एलेवेटेड हाईवे बनाने के लिए प्रोजेक्ट हासिल किया था। इस समझौते की शर्तें चीन के पक्ष में हैं।

चीन की सीएचईसी 18 साल के बाद इस प्रोजेक्ट को श्रीलंका सरकार को हैंडओवर करेगी। यह कंपनी श्रीलंका में हाईवे पर मालिकाना हक रखने वाली पहली विदेशी कंपनी बन गई है। चीन श्रीलंका में दूसरे प्रोजेक्ट में भी निवेश कर रहा है। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे का रुख चीन को लेकर नरम रहा है। इससे श्रीलंका के लोगों में चीन की बढ़ती दिलचस्पी को लेकर चिंता भी है। अगर चीन श्रीलंका में अपनी मौजूदगी बढ़ाने में सफल रहता है तो यह भारत के लिए भी चिंता का सबब है। इसीलिए भारत ने श्रीलंका के साथ कारोबारी रिश्ते बढ़ाकर चीन को जवाब देने की रणनीति अपनाता दिख रहा है।

टॉपिक

adani meets sri lankan presidnetindia interest in sri lankagautam adani on private visit of sri lankaश्रीलंका में निवेश करेगा अडानी समूहगौतम अडानीश्रीलंका के राष्ट्रपति से मिले अडानीadani group will invest in sri lankasri lanaka president meets adanigotabaya rajapaksachina interest in sri lanka

ETPrime stories of the day

China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.
R&D

China’s hypersonic missile test may be targeted at the US and the West. But India should be worried.

9 mins read
As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles
Insurance

As drones take off under fresh rules, insuring their flight still has a host of teething troubles

11 mins read
As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis
Logistics

As Christmas nears, China’s biggest shipper says there’s no end in sight for supply-chain crisis

4 mins read
कारोबार के साथ चीन को जवाब, भारत का हाथ मजबूत कर रहे गौतम अडानी

घरेलू शेयर बाजारों में बुधवार को मामूली तेजी देखने को मिल रही है। शुरुआती कारोबार में बीएसई सेंसेक्स (BSE Sensex) 106.71 अंक या 0.17 प्रतिशत बढ़कर 61,456.97 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह निफ्टी 26.70 अंक या 0.15 फीसदी की तेजी के साथ 18,295.10 पर पहुंच गया। सेंसेक्स में सबसे अधिक 6 प्रतिशत की तेजी एशियन पेंट्स (Asian Paints) में हुई।रेडमंड (अमेरिका), 27 अक्टूबर (एपी) क्लाउड कंप्यूटिंग कारोबार में बढ़ोतरी के चलते माइक्रोसॉफ्ट का मुनाफा जुलाई-सितंबर तिमाही में 24 फीसदी बढ़ गया। वाशिंगटन के रेडमंड में स्थित प्रौद्योगिकी कंपनी ने मंगलवार को बताया कि उसका तिमाही मुनाफा 17.2 अरब अमेरिकी डॉलर या प्रति शेयर 2.27 अमेरिकी डॉलर रहा। इस तरह माइक्रोसॉफ्ट ने विश्लेषकों के अनुमान को पीछे छोड़ दिया, जो प्रति शेयर 2.08 अमेरिकी डॉलर के मुनाफे की उम्मीद जता रहे थे। कोरोना वायरस महामारी के दौरान घर से काम करने का चलन बढ़ा और इसके साथ ही माइक्रोसॉफ्ट के सॉफ्टवेयर और क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाओं की मांग भी बढ़ी। एपीआईपीओ का आकार बढ़ाकर 18,300 करोड़ रुपये करेगी पेटीएम

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) स्टैंडर्ड चार्टर्ड के एक सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत में अधिकांश संपन्न व्यक्तियों ने महामारी के बाद अपने जीवन के लक्ष्यों को फिर से निर्धारित किया है। हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के कारण आत्मविश्वास की कमी उन्हें अपने नए लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक कदम उठाने से रोक रही है। ‘वेल्थ एक्सपेक्टेंसी रिपोर्ट-2021’ के अनुसार, भारत में 94 प्रतिशत लोगों ने अपने जीवन लक्ष्यों को महामारी के बाद फिर से निर्धारित किया है और 48 प्रतिशत ने कहा कि कोविड-19 की वजह से उनकामुंबई, 27 अक्टूबर (भाषा) कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और विदेशी बाजारों में अमेरिकी मुद्रा की मजबूती के चलते भारतीय रुपया बुधवार को शुरुआती कारोबार के दौरान अमेरिकी डॉलर के मुकाबले छह पैसे टूटकर 75.02 पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया पिछले बंद भाव के मुकाबले छह पैसे गिरकर 75.02 पर खुला। रुपया मंगलवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 74.96 पर बंद हुआ था। इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.06 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 93.88 पर आ गया। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूडई-श्रम पोर्टल पर दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने पंजीकरण कराया

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत के संभावित वृद्धि दर के अनुमान को संशोधित कर छह प्रतिशत करना ‘अत्यधिक कम अनुमान’ है। 15वें वित्त आयोग के चेयरमैन एन के सिंह ने मंगलवार को यह बात कही। आईएमएफ ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत की वृद्धि की संभावना को नीचे किया है। सिंह ने अध्ययन एवं औद्योगिक विकास संस्थान (आईएसआईडी) द्वारा ‘विकास के लिए वित्तपोषण’ विषय पर आयोजित ‘ऑनलाइन’ परिचर्चा को संबोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जो लोग अभी गरीबी से बचे हुए हैं, वे महामारी(अदिति खन्ना) लंदन, 26 अक्टूबर (भाषा) भारत पिछले पांच वर्षों में जलवायु प्रौद्योगिकी निवेश के मामले में शीर्ष 10 देशों की सूची में नौवें स्थान पर है। भारतीय जलवायु प्रौद्योगिकी कंपनियों ने 2016 से 2021 तक उद्यम पूंजी (वीसी) निवेश के रूप में एक अरब डॉलर प्राप्त किए हैं। मंगलवार को लंदन में जारी एक नयी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई। ‘‘लंदन एंड पार्टनर्स और डीलरूम.सीओ’’ द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट 'पांच साल: पेरिस समझौते के बाद से वैश्विक जलवायु प्रौद्योगिकी निवेश के रुझान', में पेरिस में पिछले संयुक्त राष्ट्रPaytm IPO : अब 18500 करोड़ का ऑफर, लेकिन होता क्या है OFS?

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


खेल 11
जुआ ऑनलाइन सती
सीरी ए लवबेट
कैसीनो quiberon
डू सैन गोंग
lovebet 25 का दावा
एनबीए पूर्व रैंकिंग एनबीए
पूल रम्मी वेब
lovebet स्ट्रीट क्लिफ्टन हिल
किस बैकारेट प्लेटफॉर्म की प्रतिष्ठा सबसे अच्छी है
एक के क्यू रम्मी . में
बेटा गाना वीडियो
casumo ज़हलुंग्समेथोडेन
गेंद की बाधाओं को कैसे समझें
सबसे अच्छा बैकारेट फोरम कौन सा है
पोकर एलेरी
स्लॉट वैक्सीन
सट्टेबाजी नकद सट्टेबाजी नेटवर्क
ऑनलाइन गेम वाई सिटी
स्टेटस आप
फुटबॉल सिंगल बेटिंग
जंगले rummy.com एक्सेस करने के लिए
रूले टेबल लेआउट
एस्पोर्ट्स कॉलेज
lovebet kyc
क्रिकेट 4 अच्छा
हमें लॉटरी 2020