जेएच स्पोर्ट्स

Publishing time:2021-10-27 15:48:52

गोवा डे का रिजल्ट जेएच स्पोर्ट्स betway इंडिया,fun88 ट्रांग चो,lovebet 50 फ्री स्पिन,lovebet इंटरएक्टिव एंटरटेनमेंट एजी,lovebet थू लिन्हो,3 स्लॉट अंश कैलकुलेटर,बैकरेट बैंक और अवकाश,बैकरेट खेल और कौशल,बेस्ट ऑफ फाइव एमसीक्यू एंडोक्रिनोलॉजी,सबसे व्यस्त कैसीनो दिन,कैसीनो मिशन,शतरंज एच फाइल,क्रिकेट की किताबें हिंदी में,क्रिकेटबुक xl,यूरोपीय कप फाइनल लाइव,फुटबॉल सट्टेबाजी युक्तियाँ,ga लॉटरी स्क्रैचर्स शेष पुरस्कार,खुश किसान मलेशिया,रश लेक mn . पर आइस फिशिंग,जैकपॉट ऐप विजेता,लैडब्रोक वी लवबेट,लाइव फुटबॉल डाउनलोड,लॉटरी मणिपुर,एम लवबेट ug,ऑनलाइन कैसीनो कनाडा,ऑनलाइन गेम वीएक्स 4,ऑनलाइन स्लॉट gamstop पर नहीं,पोकर 365,पोकर वाई फुल,रूले उच्चारण,रम्मी मज़ा,एस क्रिकेट लाइव ऐप,स्लॉट का अर्थ,स्पोर्ट्स आर यू बरमूडा,तीन पत्ती का खेल,बैकारेटी का कानून,वर्चुअल क्रिकेट लैब वैज्ञानिक पद्धति,वाइल्डज़ स्वागत बोनस,news24 डिबेट,करीना सके हम प्यार का सौदा,क्षत्रिय गोवा,जैकपाट मूवी,पॉप कैंडी,बरसात साजन साजन साजन,राई स्पोर्ट्स स्कूल,स्टेटस बताओ, .इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

टैक्स के लिहाज से इंटरनेशनल फंड को वही दर्जा हासिल है, जो डेट म्यूचुअल फंड का है. इस फंड में तीन साल से कम समय तक निवेश बनाए रखने पर निवेशक को इसके मुनाफे पर शॉर्ट टर्म कैपिटल गेंस टैक्स देना पड़ता है.
पिछले कुछ समय से इंटरनेशनल फंड की बहुत चर्चा हो रही है. इसकी वजह इन फंडों में निवेशकों की बढ़ती दिलचस्पी है. हालांकि, अब भी निवेशकों को ऐसे फंड़ों के बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है. इंटरनेशनल फंड का मतलब क्या है? क्या इन फंडों में निवेश का क्या फायदा है? क्या आपको इस फंड में निवेश करना चाहिए? आइए इन सवालों का जवाब जानने की कोशिश करते हैं.

इंटरनेशनल फंड में आपको क्यों निवेश करना चाहिए?
जोखिम घटाने के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंडों के पोर्टोफोलियो का डायवर्सिफिकेशन जरूरी है. डायवर्सिफिकेशन का मतलब अलग-अलग तरह के फंडों में निवेश है. कई बार भारतीय अर्थव्यवस्था का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहता है, जबकि विदेशी बाजार का प्रदर्शन अच्छा होता है. दुनिया के कई बाजारों का भारत से ज्यादा संबंध नहीं है. ऐसे में इंटरनेशनल फंड में निवेश से डायवर्सिफिकेशन में मदद मिलती है. इससे आपका जोखिम घट जाता है.

निवेशकों के लिए इंटरनेशनल फंड में निवेश के लिए कौन-कौन से विकल्प हैं?
आज भारतीय निवेशकों के लिए इंटरनेशनल फंड के कई विकल्प हैं. ये देश, क्षेत्र, थीम और टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं. कोई भारतीय निवेशक रुपये में इन इंटरनेशनल फंडों में निवेश कर सकता है. आप सामान्य म्यूचुअल फंड की तरह इंटरनेशनल फंड का चुनाव कर उसमें ऑनलाइन या ऑफलाइन निवेश कर सकते हैं.

इंटरनेशनल फंड किस तरह विदेशी शेयरों में निवेश करते हैं?
भारतीय बाजार में मौजूद इंटरनेशनल फंड सीधे विदेशी कंपनियों के शेयरों में या विदेश के दूसरे फंडों में निवेश करते हैं. दूसरे फंडों में निवेश को फीडर रूट कहा जाता है. यह एक तरह से फंड ऑफ फंड की तरह है.

यह भी पढ़ें : एनपीएस में निवेश की उम्र सीमा बढ़कर हो सकती है 70 साल!

इंटरनेशनल फंडों के रिटर्न पर किस तरह टैक्स लगता है?
टैक्स के लिहाज से इंटरनेशनल फंड को वही दर्जा हासिल है, जो डेट म्यूचुअल फंड का है. इस फंड में तीन साल से कम समय तक निवेश बनाए रखने पर निवेशक को इसके मुनाफे पर शॉर्ट टर्म कैपिटल गेंस टैक्स देना पड़ता है. टैक्स की दर निवेशक के टैक्स स्लैब के अनुसार होती है. तीन साल से ज्यादा वक्त तक फंड में निवेश बनाए रखने पर निवेशक को इंडेक्सेशन का फायदा मिलता है. इसकी वजह यह है कि इसे लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस माना जाता है. इंडेक्सेशन के बाद टैक्स की दर 20 फीसदी होती है.

क्या इंटरनेशनल फंड में निवेश करने में बहुत जोखिम है?
शेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा ऐसे फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है. भारत में निवेशक रुपये में निवेश करता है. लेकिन, म्यूचुअल फंड कंपनी को उस देश की मुद्रा में इंटरनेशनल फंड में निवेश करना पड़ता है, जहां का वह फंड होता है. इसलिए इंटरनेशनल फंड में निवेश करने से पहले आपको करेंसी में होने वाले उतार-चढ़ाव के जोखिम के लिए तैयार रहना होगा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

इंटरनेशनल फंडडेट फंडइक्विटी म्यूचुअल फंडम्यूचुअल फंडफंड ऑफ फंड

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read
इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.आदित्य बिड़ला सन लाइफ असेट मैनेजमेंट (Aditya Birla Sun Life Asset Management) का ऑपरेटिंग रेवेन्यू 30% बढ़ कर 332 करोड़ रुपए रहा। कंपनी ने 5.60 रुपए प्रति शेयर का अंतरिम लाभांश घोषित किया है।देश में साइबर सुरक्षा के लिये कोई ‘जवाबदेह’ केंद्रीय संगठन नहीं: राजेश पंत

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत के संभावित वृद्धि दर के अनुमान को संशोधित कर छह प्रतिशत करना ‘अत्यधिक कम अनुमान’ है। 15वें वित्त आयोग के चेयरमैन एन के सिंह ने मंगलवार को यह बात कही। आईएमएफ ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत की वृद्धि की संभावना को नीचे किया है। सिंह ने अध्ययन एवं औद्योगिक विकास संस्थान (आईएसआईडी) द्वारा ‘विकास के लिए वित्तपोषण’ विषय पर आयोजित ‘ऑनलाइन’ परिचर्चा को संबोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जो लोग अभी गरीबी से बचे हुए हैं, वे महामारीनयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) जैसे बहुपक्षीय विकास बैंकों को समावेशी और हरित विकास के लिये निजी क्षेत्र की पूंजी जुटाने के कार्यों में तेजी लाने की जरूरत है। एआईआईबी के संचालन मंडल की छठी सालाना बैठक में भाग लेते हुए वित्त मंत्री ने बहुपक्षीय बैंक से सामाजिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिये निवेश अवसर तलाशने को भी कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी और जलवायु संकट ने बहुपक्षीय विकास बैंकों (एमडीबी) के महत्व और बहुपक्षीय विकास वित्त के साथ राष्ट्रों के प्रयासोंम्यूचुअल फंडों का एयूएम 41% बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये पहुंचा

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


स्टेटस एप्प डाउनलोड
lovebet जिम्बाब्वे
सट्टेबाजी के देवता
खेलो पर जुआ warna
जोकर इमेज
रम्मी 500 ऑनलाइन
कैसीनो पार्टी
वाई स्पोर्ट्स केप टाउन कैटलॉग
lovebetर्स l
lovebet अधिग्रहण
ऑनलाइन बैकरेट विश्वसनीय है
रॉयल क्लज RK61
कॉमोन बेट वापसी का समय
lovebet जी५०
lovebet नया खाता बोनस
क्रिकेट status
बैकारेट रानी
जैकपोट जैकपोट
बैकारेट full form
सट्टेबाजी चिड़ियाघर
बैकरेट परीक्षण सॉफ्टवेयर
3 रील स्लॉट महाकाव्य खेल
प्रभाव के बाद स्लॉट मशीन प्रभाव
शतरंज कौशल
फुटबॉल लाइन अभ्यास
पोकर पोकर कार्ड
ऑनलाइन पोकर कानून