बैकारेट यूट्यूब

बैकारेट यूट्यूब

time:2021-10-27 14:56:49 इसी महीने लिस्ट हुई इस कंपनी को हुआ 38 फीसदी का मुनाफा, जानें निवेशकों को कितना मिला है लाभांश Views:4591

ऑनलाइन पैसे जुआ वेबसाइट बैकारेट यूट्यूब 10cric वीडियो,casumo हॉटलाइन,लियोवेगास ट्रस्टपायलट,lovebet क्रना गोरा,lovebet ओडर टिपिको,lovebet और 788-sb.com,क्या कोई लाभदायक बोर्ड गेम हैं,बैकरेट जुआ वेबसाइट संग्रह,बैकरेट वेब गेम,सट्टेबाजी का पैसा,कैसीनो बॉट कलह,कैसीनो वॉलपेपर,क्लासिक रम्मी निकासी नियम,क्रिकेट लाइव स्कोर भारत,एफ़ुटबॉल,च फुटबॉल भविष्यवाणी,फुटबॉल ओवरटाइम,उत्पत्ति कैसीनो निलंबन,ऑनलाइन फ़ुटबॉल सट्टेबाजी के एकल मैच पर बेट कैसे लगाएं,आईपीएल फोटो,जैकपॉट विकी,लाइव लाठी यूट्यूब,लॉटरी 27/05/21,भाग्य 9 कैसीनो खेल,एनबीए लाइव 8,ऑनलाइन कैसीनो जाम्बिया,ऑनलाइन पोकर मैसाचुसेट्स,परिमच जेटेक्स,पोकर युद्ध लिवर है,असली पैसा जमींदार से लड़ता है,शासन कशा,रम्मी वेगास APK,स्लॉट मशीन लोकेटर,खेल 88 dfw,स्पोर्ट्सबुक लीगल स्टेट्स,टेक्सास होल्डम कोई सीमा नहीं,टीआर क्रिकेट एपीके डाउनलोड,अधिक मजेदार और निष्पक्ष ऑनलाइन कैसीनो कहां हैं,वाई फुटबॉल खिलाड़ी,एक पत्ती गेम,क्रिकेट gk 2019,गोवा जाने का रास्ता,तारीख लॉटरी रिजल्ट,बकरा इंग्लिश,बेटा ही चाहिए सीरियल,लॉटरी भाग लक्ष्मी, .इसी महीने लिस्ट हुई इस कंपनी को हुआ 38 फीसदी का मुनाफा, जानें निवेशकों को कितना मिला है लाभांश

Story outline

  • इसी महीने शेयर बाजारों में लिस्ट होने वाली आदित्य बिरला सन लाइफ असेट मैनेजमेंट (AMC) कंपनी को दूसरी तिमाही में 173.1 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है
  • एक साल पहले इसी तिमाही की तुलना में यह 38% ज्यादा है
  • वर्ष 2020-21 की सितंबर तिमाही में कंपनी को 125.4 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था
आदित्य बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड को हुआ 38 फीसदी का मुनाफा
मुंबई
इसी महीने शेयर बाजारों (Stock Exchanes) में लिस्ट होने वाली आदित्य बिरला सन लाइफ असेट मैनेजमेंट (AMC) कंपनी को दूसरी तिमाही में 173.1 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। एक साल पहले इसी तिमाही की तुलना में यह 38% ज्यादा है। वर्ष 2020-21 की सितंबर तिमाही में कंपनी को 125.4 करोड़ रुपए का फायदा हुआ था। अच्छे उत्साह से उत्साहित कंपनी ने शेयर धारकों को अंतरिम लाभांश देने का फैसला किया है।

ऑपरेटिंग रेवेन्यू 30 फीसदी बढ़ा
कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में बताया कि इसका ऑपरेटिंग रेवेन्यू 30% बढ़ कर 332 करोड़ रुपए रहा। कंपनी ने 5.60 रुपए प्रति शेयर का अंतरिम लाभांश घोषित किया है। आदित्य बिरला सन लाइफ असेट मैनेजमेंट के MD&CEO ए. बालासुब्रमणियन ने कहा कि वह लगातार अपने ओवरऑल असेट्स अंडर मैनेजमेंट (AUM) को बढ़ाने पर फोकस कर रहे हैं। इसके लिए सभी अलग-अलग असेट कैटेगरीज को हम बढ़ा रहे हैं। SIP में उनकी ग्रोथ लगातार बनी हुई है। इक्विटी AUM, बी-30 (टॉप 30 शहरों से आगे के शहर), फोलियो की संख्या और अलग तरीके के प्रोडक्ट ऑफरिंग हमारी ग्रोथ में योगदान कर रहे हैं।

इसी महीने कंपनी के शेयर हुए हैं लिस्ट
बता दें कि इसी महीने में बिरला असेट मैनेजमेंट कंपनी शेयर बाजार में लिस्ट हुई है। स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट होने वाली यह चौथी म्यूचुअल फंड कंपनी है। AUM के लिहाज से भी यह चौथे नंबर की कंपनी है। दूसरी तिमाही में कंपनी के म्युचुअल फंड औसत AUM में सालाना आधार पर 26% की बढ़त हुई है और यह 3 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा रहा। इक्विटी का AUM 41% बढ़कर 1.16 लाख करोड़ रुपए रहा।

दूसरी तिमाही में 73 लाख फोलियो
कंपनी ने कहा है कि उसके पास दूसरी तिमाही में 73 लाख फोलियो थी। उसने पहली छमाही में 5.95 लाख नए फोलियो जोड़े हैं। मासिक आधार पर कंपनी की SIP से आनेवाली रकम 866 करोड़ रुपए रही। दूसरी तिमाही में कंपनी ने 3.20 लाख नए SIP अकाउंट खोले। सालाना आधार पर इसमें 110% की बढ़त रही।

टॉप 30 शहरों में 23 फीसदी बढ़ा AUM
कंपनी ने कहा कि टॉप 30 शहरों से आगे के शहर (बी-30 मार्केट) में उसका मासिक औसत AUM सालाना 23% बढ़ा है। बिड़ला असेट मैनेजमेंट ने कहा कि चालू वित्तवर्ष की पहली छमाही में उसके कुल ट्रांजेक्शन का करीबन 84% ट्रांजेक्शन डिजिटल प्लेटफॉर्म से रहा। 77% नए फोलियो को डिजिटल तरीके से शुरू किया गया।

टॉपिक

आदित्य बिरला सन लाइफम्यूचुअल फंड निवेशकंपनी मुनाफाआदित्य बिड़ला सन लाइफआदित्य बिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंडaditya birla sun lifeaditya birla sun life mutual fundmutual fund investmentmutual fund aumasset under management

ETPrime stories of the day

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

13 mins read
Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) दूरसंचार अवसंरचना कंपनी इंडस टावर्स ने मंगलवार को कहा कि सरकार द्वारा घोषित सुधार पैकेज से इस क्षेत्र में उम्मीद का संचार हुआ है और उद्योग ढांचे के लिए जोखिम काफी कम हो गया है। इंडस टावर्स के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) बिमल दयाल ने दूसरी तिमाही के तिमाही नतीजों को जारी करने के मौके पर कहा कि कंपनी दूरसंचार संचालकों और क्षेत्रों में डेटा की अत्यधिक मांग से लाभान्वित हो रही है। सरकार द्वारा हाल ही में घोषित किएशेयरों में निवेश से जुड़े जोखिम के अलावा इंटरनेशनल फंड में निवेश से करेंसी का जोखिम भी जुड़ा होता है. दूसरे देश की मुद्रा के मुकाबले रुपये में कमजोरी और मजबूती का असर आपके रिटर्न पर पड़ता है.बजाज फाइनेंस का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 53 प्रतिशत बढ़कर 1,481 करोड़ रुपये पर

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) मौजूदा कोयला संकट जारी रहने पर एल्युमीनियम मूल्य श्रृंखला से जुड़े 5,000 से अधिक लघु और मझोले आकार के उद्यमों (एसएमई) को भारी नुकसान का अंदेशा है। भारतीय औद्योगिक मूल्य श्रृंखला परिषद (आईआईवीसीसी) के अनुसार, यदि प्राथमिक एल्युमीनियम उद्योग के वर्तमान कोयला संकट का तत्काल समाधान नहीं किया गया तो इन एसएमई को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। कोल इंडिया का घरेलू कोयला उत्पादन में 80 प्रतिशत से अधिक का योगदान है। कोल इंडिया ताप विद्युत संयंत्रों में कम स्टॉक की स्थिति को देखते हुए अस्थायी रूप से बिजली क्षेत्रसामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.यूलिप और म्यूचुअल फंड में इन 5 बड़े अंतरों को जान लें, होगा फायदा

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.दूरसंचार सुधार पैकेज ने उम्मीद बढ़ायी, उद्योग ढांचे के लिए जोखिम कम हुआ: इंडस टावर्स

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्लॉट मशीन जैमर

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.

डीए लॉटरी

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) जैसे बहुपक्षीय विकास बैंकों को समावेशी और हरित विकास के लिये निजी क्षेत्र की पूंजी जुटाने के कार्यों में तेजी लाने की जरूरत है। एआईआईबी के संचालन मंडल की छठी सालाना बैठक में भाग लेते हुए वित्त मंत्री ने बहुपक्षीय बैंक से सामाजिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिये निवेश अवसर तलाशने को भी कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी और जलवायु संकट ने बहुपक्षीय विकास बैंकों (एमडीबी) के महत्व और बहुपक्षीय विकास वित्त के साथ राष्ट्रों के प्रयासों

क्रिकेट विशेषज्ञ

निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

किस फ़ुटबॉल रेफ़रल नेटवर्क की जीतने की दर अधिक है

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) स्विट्जरलैंड की कंपनी होल्सिम ग्रुप की इकाई अंबुजा सीमेंट्स का चालू वित्त की सितंबर में समाप्त तीसरी तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 10.85 प्रतिशत बढ़कर 890.67 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है। कंपनी का वित्त वर्ष जनवरी-दिसंबर तक होता है। इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी ने 803.50 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी परिचालन आय 7.74 प्रतिशत बढ़कर 6,647.13 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान अवधि में 6,169.47 करोड़ रुपये थी।

baccarat जीतने की संभावना

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
पोकर या कैसीनो

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि दो महीनों में ई-श्रम पोर्टल पर 5 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। यह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के बारे में पहला संगठित रूप से एकत्रित राष्ट्रीय आंकड़ा है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। इसमें निर्माण, परिधान, विनिर्माण, मत्स्य, खोमचे-रेहड़ी पटरी वाले, ठेका कर्मी, घरों में काम करने वाले, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों