• micro-blog
  • WechatWechat QR code

गुआनडोंग प्रांतिय लोक्स सरकार का होम पृष्ठ  >  News trends  >  Guangdong highlights

कैसीनो 80 मुक्त स्पिन

स्रोत: Nanfang Daily Online Edition     time: 2021-10-27 16:02:28

ऑनलाइन क्रेडिट एंटरटेनमेंट सिटी कैसीनो 80 मुक्त स्पिन 10cric साइन अप,casumo जुआ आयोग,लियोवेगास साइन अप,lovebet कोड 00,lovebet भारत में काम नहीं कर रहा है,lovebet जाम्बिया लॉगिन,क्या ऑनलाइन कैसीनो विश्वसनीय हैं?,बैकरेट मुक्त विश्लेषण सॉफ्टवेयर,बैकारेट फूलदान विंटेज,भारत में सट्टेबाजी कानूनी ताजा खबर,कैसीनो समुद्र तट,कैसीनो वेक्टर,क्लासिक रम्मी रणनीति,बच्चों के लिए क्रिकेट किट,ई स्पोर्ट्स ज़ुकुनफ़्ट,बकारट रोड का अनुभव,फ़ुटबॉल ऑड्स ट्रेडर स्पष्टीकरण,उत्पत्ति कैसीनो Quora,फ़ुटबॉल खेल का विश्लेषण कैसे करें,आईपीएल नई टीम,जैकपॉट यूटाह,मियामी में लाइव लाठी टेबल,लॉटरी 07/05/21,लॉटरी जाम्बिया,एनबीए डाइविंग रैंकिंग,असली पैसे के साथ ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन पोकर कोस्टेनलोस ओह्ने एन्मेल्डुंग,पैरामैच हॉर्स रेसिंग,कैसीनो में पोकर,असली ड्रैगन टाइगर क्रैकिंग,नियम हाथ सही,रम्मी वेरिएंट प्रश्न,स्लॉट मशीन कुंजी प्रतिस्थापन,खेल 66,स्पोर्ट्सबुक जॉब रिमोट,टेक्सास होल्डम मानोस,टोटल फ़ुटबॉल,अगर आप ऑनलाइन बैकारेट में पैसे खो देते हैं तो क्या करें?,एक्स-पोकर ऐप,ऊटी गोवा,क्रिकेट cake,गोवा घूमने की जगह बताओ,ड्रैगन किंग,फुटबॉल हिंदी नाम,बेटा वीडियो सॉन्ग,लॉटरी पंजाब result, ,मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

  


  

मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

  मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि चीनी मिलों ने इस महीने से शुरू होने वाले विपणन वर्ष 2021-22 में अब तक 18 लाख टन चीनी निर्यात का अनुबंध किया है तथा चीनी उद्योग की कंपनियों को अधिशेष स्टॉक को समाप्त करने के लिए कम से कम 60 लाख टन का निर्यात करने को कहा गया है।

चीनी मिलों को नए निर्यात गंतव्यों का पता लगाने के लिए कहा गया है, क्योंकि अफगानिस्तान में घरेलू अस्थिरता के कारण वहां निर्यात प्रभावित हो सकता है।

अखिल भारतीय चीनी व्यापार संघ (एआईएसटीए) द्वारा आयोजित एक वेबिनार को संबोधित करते हुए खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने कहा कि भारत पिछले चार विपणन वर्षों से अधिशेष चीनी का उत्पादन कर रहा है, जबकि पिछले साल देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से होटल और रेस्तरां बंद होने के कारण खपत में गिरावट आई है।

उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि सरकार की नीति ने चीनी क्षेत्र को भारतीय बाजार और विदेशों में अपनी स्थिति को फिर से परिभाषित करने में मदद की है।

पांडेय ने कहा कि भारत ने विपणन वर्ष 2020-21 (अक्टूबर-सितंबर) में विभिन्न देशों को 72 लाख टन चीनी का रिकॉर्ड निर्यात किया।

उन्होंने कहा कि कुल निर्यात में से लगभग 50 प्रतिशत का निर्यात श्रीलंका, इंडोनेशिया और अफगानिस्तान को किया गया। पांडेये ने कहा, ‘‘हम सभी निर्यात के लिए नए अवसरों की तलाश कर रहे हैं। निर्यात के लगभग 18 लाख टन के अनुबंधों का क्रियान्वयन किया गया है।’’

सचिव ने कहा कि भारत को विपणन वर्ष 2021-22 में इंडोनेशिया को अपनी चीनी निर्यात करने में थाइलैंड से प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘अफगानिस्तान में अस्थिरता वहां होने वाले निर्यात को प्रभावित कर सकती है।’’ उन्होंने कहा कि श्रीलंका भी विदेशी मुद्रा की कमी का सामना कर रहा है।

पांडेय ने सुझाव दिया कि उद्योग को एक नई व्यवस्था करनी पड़ सकती है ताकि वह श्रीलंका को चीनी निर्यात कर सके।

अधिशेष स्टॉक से निपटने के लिए, सचिव ने कहा कि लगभग 25 लाख टन चीनी को पेट्रोल के साथ मिश्रित किये जाने वाले एथनॉल के विनिर्माण के लिए हस्तांतरित किया जाए।

पांडेय ने कहा कि वर्ष 2023 तक, 60 लाख टन चीनी का इस्तेमाल एथनॉल के लिए किए जाने का लक्ष्य है।

कोविड महामारी, जलवायु परिवर्तन और तनावों को प्रमुख चुनौतियां बताते हुए, सचिव ने कहा कि सस्ती दरों पर चीनी की उपलब्धता सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।

पांडेय ने आश्वासन दिया, ‘‘सरकार इस क्षेत्र का समर्थन जारी रखेगी ताकि यह क्षेत्र अपनी लाभप्रदता बनाए रखे।’’

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

13 mins read
Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read

अप्रैल से टोयोटा की गाड़‍ियां होंगी महंगी, दाम बढ़ाने का यह कारण बताया

फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है.रीइंश्‍योरेंस कंपनियों के रेट जीवन प्रत्‍याशा यानी लाइफ एक्‍सपेक्‍टेंसी पर आधारित होते हैं. यह एक लंबी अवधि का ट्रेंड होता है.साल 2020 में कार और बाइक्स ने मचाई धूम, जानिए क्या है कीमत

कंपनी ने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है. इसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) का इस्तेमाल होता है. इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है.बजाज फाइनेंस का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ 53 प्रतिशत बढ़कर 1,481 करोड़ रुपये पर

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत के संभावित वृद्धि दर के अनुमान को संशोधित कर छह प्रतिशत करना ‘अत्यधिक कम अनुमान’ है। 15वें वित्त आयोग के चेयरमैन एन के सिंह ने मंगलवार को यह बात कही। आईएमएफ ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत की वृद्धि की संभावना को नीचे किया है। सिंह ने अध्ययन एवं औद्योगिक विकास संस्थान (आईएसआईडी) द्वारा ‘विकास के लिए वित्तपोषण’ विषय पर आयोजित ‘ऑनलाइन’ परिचर्चा को संबोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जो लोग अभी गरीबी से बचे हुए हैं, वे महामारीहाल में इनपुट कॉस्‍ट में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए मारुति सुजुकी इंडिया, रेनॉ इंडिया, होंडा कार्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड इंडिया, इसुजु, बीएमडब्ल्यू इंडिया, ऑडी इंडिया और हीरो मोटो कार्प जैसी वाहन कंपनियां पहले ही जनवरी से कीमतें बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं.देश में साइबर सुरक्षा के लिये कोई ‘जवाबदेह’ केंद्रीय संगठन नहीं: राजेश पंत



Relevant reports:स्पोर्ट्स हर्निया
Relevant reports:सट्टा बंद
Relevant reports:पोकर रानी उच्च
Relevant reports:lovebet दफ़्तर
Relevant reports:क्रिकेट टी20 विश्व कप 2021
Relevant reports:फुटबॉल विशेषज्ञ पहले
Relevant reports:लियोवेगास एरफहृंगेन
Relevant reports:क्रिकेट mahila
Relevant reports:स्टेटस का हिंदी मीनिंग
Relevant reports:स्लॉट मशीन लॉन्गबोर्ड
Relevant reports:lovebet 66/1 स्टर्लिंग
Relevant reports:टीआर स्पोर्ट्स पूल टेबल
Relevant reports:रम्मीबाजी
Relevant reports:lovebet2 कारक प्रमाणीकरण पुनर्प्राप्ति
Relevant reports:पारिमैच व्हाट्सएप नंबर
Relevant reports:रम्मी-0 खेल के नियम
Relevant reports:ना शतरंज टीम
Relevant reports:lovebet मालिक
Relevant reports:फुटबॉल अप्रत्यक्ष फ्री किक
Relevant reports:वीडियो सीएचीन स्लॉट
Relevant reports:क्रिकेट जानवर
Relevant reports:3 रील स्लॉट अनलॉक
Relevant reports:fun88 नेट वर्थ
Relevant reports:क्रिकेट आईसीसी रैंकिंग
Relevant reports:आईपीएल ग्रुप लिंक
Relevant reports:परिमच जमा समय
Relevant reports:एनबीए लाइव वीडियो

【font:large in Small
प्रतिलिपि अधिकार: दक्षिण न्यूज नेटवर्कगुआनडोंग आईसीपी तैयार 05070829 website identification code 4400000131
Sponsor: नान्फांग न्यूज़र नेटवर्क co sponsor: Guangdong Provincial Economic and Information Technology Commission contractor: Nanfang news network
1024 is recommended × Browser with 768 resolution above IE7.0